गाय के पेट में 35 दिन तक फसी रही 200 ग्राम  सोने की चैन,जब निकली बाहर तो मालिक के उड़े होश

जानने के लिए आगे पढ़े…

दुनिया में लोगों के पास कई तरह के जानवर हैं, अगर भारत की बात करें तो यहां गाय को मां का दर्जा दिया जाता है।  गाय की माता की सेवा की जाती है।  विशेष रूप से दिवाली के समय गाय के छेद को सजाकर गाय की पूजा की जाती है।  लेकिन ऐसा करना कर्नाटक के एक किसान के लिए महंगा पड़ा। 

इस किसान और उसकी पत्नी ने एक गाय और उनके बछड़े को फूलों से सजाया।  इसके अतिरिक्त, उस व्यक्ति ने गाय को 20 ग्राम सोने की चेन (गाय के पेट में 20 ग्राम सोने की चेन) पहनाई।  लेकिन गहने पहनना इंसान के लिए बहुत महंगा हो गया है।  गाय ने इस जंजीर (निगल की सुनहरी गाय की जंजीर) को निगल लिया, जिसके बाद बड़ा बवाल मच गया।

जानकारी के अनुसार किसान श्रीकांत हेगड़े और उनकी पत्नी ने गाय की पूजा करने से पहले एक गाय और उसके बछड़े को फूलों की आकृति से सजाया था। इसके अलावा वह अपनी गाय के लिए 20 ग्राम सोने की चेन लेकर आया था।  सेवा के अगले दिन दम्पति ने गाय के जेवर उतारकर कहीं रख दिए। दंपति ने सोने की चेन को ताज के साथ रखा। जब गाय ने मुकुट खाया, तो उसने अपने साथ सोने की जंजीर निगल ली।  तभी हंगामा हो गया।

इस जोड़े ने करीब 35 दिनों तक गाय की खाद की निगरानी की। मैं चैक करता रहा कि कहीं गाय के गोबर में जंजीर तो नहीं फट गई। उनकी गाय को कहीं जाने नहीं दिया जाता था। 4 साल की यह गाय 35 दिनों तक घर में कैद रही लेकिन उसके गोबर से जंजीर नहीं निकली।

उसके बाद श्रीकांत उसे डॉक्टर के पास ले गए। वहां उन्होंने मेटल डिटेक्टर से जांच की कि क्या गाय ने पहले ही चेन को निगल लिया है। जवाब था हां, लेकिन अब बड़ा सवाल यह है कि चेन कैसे निकलेगी?

क्या डॉक्टरों को जांच से पता चला कि गाय के पेट में जंजीर फंसी हुई है? इसके बाद टीम ने गाय का पेट चीर कर अंदर से जंजीर निकाल दी। हालांकि चेन हटने के कुछ देर बाद ही उसका वजन कर लिया गया।  इस पर किसान और उसकी पत्नी के होश उड़ गए।गाय के पेट में 20 ग्राम श्रृंखला 35 दिनों के बाद केवल 18 ग्राम रह गई। 

दरअसल, जंजीर का एक छोटा सा हिस्सा एक गाय थी।  तो डॉक्टरों ने गाय के पेट की अच्छी तरह से जांच की, लेकिन उन्होंने कोई परिणाम नहीं दिया। लेकिन दंपति केवल 18 ग्राम की चेन पाकर खुश थे।  हालांकि, उन्हें इस बात का अफसोस है कि कुछ गलत होने की वजह से उनकी गाय को काफी परेशानी से गुजरना पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.