टॉफी खाने से हुई 4 मासूम बच्चो की मौत – सचाई जान लोगो के उड़े होश

जानने के लिए आगे पढ़े…

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में रहस्यमयी मिठाई खाने से चार बच्चों की मौत हो गई है।  एक साथ 4 लोगों की मौत से पूरे इलाके में भावना फैल गई। मरने वालों में दो लड़के और दो लड़कियां शामिल हैं। प्रत्येक व्यक्ति की आयु 2 से 6 वर्ष के बीच है।  हादसा कसाया थाने के कुड़वा दिलीपनगर सिसई लाठूर टोला का है। मृतक के परिजनों का दावा है कि किसी ने यह मिठाई दरवाजे पर फेंक दी जिसके बाद बच्चों की मौत हो गई।

घटना से प्रबंधन में भी उत्साह है। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी है। वहीं मृतक के परिजनों की हालत नाजुक बनी हुई है। घर के बाहर कैंडी फेंकने वाले को बताएं। बच्चों ने इन मिठाइयों को तोड़कर खा लिया और कुछ देर बाद उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। लोगों ने उसे जिला अस्पताल पहुंचाया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।  रिश्तेदारों का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि कैंडी किसने फेंकी।

वहीं इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हो गई। उन्होंने दुर्घटना पर दुख व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवार को तत्काल मदद के आदेश दिए और जांच के आदेश भी दिए।

स्टार्ट लैंप बंद हो जाता है

डिप्टी कलेक्टर वरुण कुमार पांडे ने ग्रामीणों के हवाले से बताया कि कसया थाना जिले के दिलीपनगर कहे जाने वाले कुडवा के मुखिया लाथुर तुला सुबह देवी घर के दरवाजे की सफाई कर रहे थे।  इस दौरान उन्हें पांच चॉकलेट बार और नौ रुपये पॉलीथिन मिले।  उसने अपने पोते को तीन चॉकलेट बार और पड़ोसी के बेटे को एक बार दिया। कैंडी खाने के बाद चारों बच्चे खेलने के लिए कुछ दूर चले जब तक कि वे बेहोश नहीं हो गए और जमीन पर गिर गए।

उन्होंने कहा: “ग्रामीण बच्चों को जिला अस्पताल ले गए। डॉक्टरों ने सभी चार बच्चों को मृत घोषित कर दिया। मरने वालों में तीन शाही भाई-बहन मंजना , स्वीटी (तीन) और दो साल के समर थे। पांच साल- ओल्ड प्लेसर के इकलौते बेटे हारून की भी मिठाई खाने के सालों बाद मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.