कश्मीर में आतंकी हमले में 5 जवान हुए शहीद – परिवार की हालत देख रोना आ जाएगा

जानने के लिए आगे पढ़े…

जानिए क्या हुआ था जब भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे। जब कुपवाड़ा टकराव हुआ था। तब कुपवाड़ा और जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में 5 जवान शहीद हो गए थे।

नागरिकों की भी जान चली गई

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पिछले 60 घंटे से सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच बैठक हो रही है।  आतंकियों से मुठभेड़ में अब तक 5 सुरक्षाकर्मी शहीद हो चुके हैं।  दो आतंकवादी भी मारे गए।  आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, आतंकवाद रोधी अभियान के दौरान आतंकवादियों से लड़ते हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के तीन सदस्य और जम्मू-कश्मीर पुलिस के दो सदस्य मारे गए। 

सूत्रों ने बताया कि एक मृत आतंकवादी क्षतिग्रस्त घर को छोड़कर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दिया था, और सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया सूचना मिलने के बाद कुपवाड़ा जिले के बाबागोंड इलाके को घेर लिया।  तलाशी की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चला दीं।

तभी सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की।  अधिकारियों ने कहा कि दिन में कई बार गोलीबारी रुकी लेकिन जब सुरक्षाकर्मी घर पहुंचे तो बंदूकधारियों ने फिर से गोलीबारी शुरू कर दी।  इस घर में आतंकी छिपे हुए थे।  भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कैसे बढ़ा: 26 फरवरी को भारत में आतंकवादी शिविरों के खिलाफ हवाई हमले और फिर पाकिस्तान वायु सेना द्वारा भारत में प्रवेश करने के प्रयास ने दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा दिया। 

हालांकि, तनाव उसी दिन शुरू हुआ जिस दिन आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद ने 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम दिया था। जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।  फिर 26 फरवरी को आतंकी कैंप पर भारत के हमले ने पाकिस्तान को हैरान कर दिया। 27 फरवरी को भारत और पाकिस्तान दोनों की तरफ से जवाबी कार्रवाई की खबरें जोरों पर थीं।

पाकिस्तान ने अपने फाइटर जेट से एलओसी में घुसपैठ करने की कोशिश की लेकिन भारतीय वायुसेना ने उसे नाकाम कर दिया।  कब्जे वाले पाकिस्तानी कश्मीर में मिला पाकिस्तानी विमान का मलबा इस दौरान भारतीय वायुसेना ने एक मिग खो दिया।  भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हमारा एक पायलट (अबीनंदन वर्धमान) लापता है।  बाद में खबरें आईं कि उन्हें पाकिस्तान में बंधक बनाकर रखा जा रहा है। 

भरत ने पाकिस्तानी अधिकारियों को तलब किया और जेल में बंद पायलट को सुरक्षित पाकिस्तान लौटने को कहा।  इस बीच, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के साथ बातचीत फिर से शुरू कर दी है।  पाकिस्तान के प्रधान मंत्री ने कहा कि अगर युद्ध छिड़ गया, तो कोई भी इसे नियंत्रित नहीं करेगा।  इमरान खान ने कहा कि हम भारत को बोलने के लिए आमंत्रित करते हैं।

पुलवामा आतंकी हमला: इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है।  14 फरवरी को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से श्रीनगर जा रहा था।

इस काफिले में करीब 78 कारें और 2,500 सैनिक थे।  इसी दौरान विस्फोटकों से लदी एक कार बाईं ओर से केंद्रीय रिजर्व पुलिस की बस से टकरा गई।  आतंकी ने जिस कार को टक्कर मारी उसमें करीब 60 किलोग्राम विस्फोटक था।  नतीजतन, विस्फोट इतना घातक हो गया कि 40 सैनिक शहीद हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.