ठेला लगाकर बिरयानी बेचने लगे इंजिनियर, कमाई जान कर उड़ जायेंगे होश

जानने के लिए आगे पढ़े…

आज के युवा इंजीनियरिंग में पढ़ाई कर रहे हैं और 9 से 5 नौकरी करने के लिए बड़े शहरों में आ रहे हैं।  हालांकि, कई लोगों को यह नौकरी अब पसंद नहीं आती है, क्योंकि 9 से 5 की नौकरी में व्यक्ति के पास अपने लिए समय ही नहीं बचा होता है।  इससे तंग आकर इंजीनियरों ने नौकरी छोड़ दी और वेज बिरयानी बेचने लगे।  सबसे हैरान करने वाली बात उनकी कमाई है।  इन दोनों इंजीनियरों की कमाई जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सचिन और रोहित नाम के दो इंजीनियर एक बड़ी कंपनी में काम कर रहे थे। हालांकि वह अपने काम से खुश नहीं थे। इसी बीच एक दिन उसने नौकरी छोड़ने का फैसला कर लिया।

उसके बाद इंजीनियरों की यह जोड़ी वेज बिरयानी बेचने लगी। अब जब दोनों अपनी कमाई की बात करते हैं तो लोगों को यकीन नहीं होता।उनका कहना है कि मैनुअल सब्जी बिरयानी गाड़ी से ज्यादा उन्हें समारोह से फायदा होता है।

मुझे नौ से पांच तक काम करना पसंद नहीं था

इन दोनों इंजीनियरों ने हरियाणा के सोनपत में वेजिटेबल बिरयानी ट्रॉली लगाई है। पहले दोनों ने 9 से 5 की नौकरी की, लेकिन उन्होंने पाया कि सब्जी बिरयानी में काम करना इंजीनियरिंग में काम करने से बेहतर है। उन्होंने लाखों खर्च करके इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की, लेकिन उनकी इंजीनियरिंग की डिग्री अब उनके लिए कुछ खास नहीं है।  अब वह वेज बिरयानी बेचकर अपनी नौकरी से कहीं ज्यादा पैसा कमा रहे हैं।

सचिन और रोहित ने अपने करियर की शुरुआत एक साथ की थी। रोहित जहां पॉलिटेक्निक की पढ़ाई के बाद आए, वहीं सचिन ने बी-टेक कर अपना बिजनेस शुरू किया। हालांकि, वह काम से संतुष्ट नहीं था।अंत में, उन दोनों ने एक साथ अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने पर विचार किया। उसके बाद दोनों सुनपत में वेगन बिरयानी बेचने लगे। दोनों ने पॉश सुनीपत इलाके में बिरयानी ट्रॉली तैयार की।

कोई आम बिरयानी नहीं

रोहित और सचिन बताते हैं कि उनकी बिरयानी कोई साधारण बिरयानी नहीं है। इस बिरयानी में तेल नहीं होता है।  चावल भी बहुत अच्छी गुणवत्ता का है। बिरयानी की आधी थाली 50 रुपये में बिकती है और बिरयानी की पूरी थाली 70 रुपये में बिकती है।

सचिन का कहना है कि जो लोग डाइट पर हैं वे भी उनकी बिरयानी खा सकते हैं।  इससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो रहा है। अब वह अपना कारोबार बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं। दोनों खुश हैं क्योंकि उन्हें अपनी नौकरी से बेहतर आमदनी हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.