बहुत बड़ी खोज: जापान में बनी उड़ने वाली कार, भारत में आएगी सबसे पहले ये गाड़ी

जानने के लिए आगे पढ़े…

उन्होंने कहा: “उड़ान कारों के लिए दुनिया भर में 100 से अधिक परियो जनाएं चल रही हैं। वैसे तो बहुत लोगो ने ऐसी गाड़िया बनाई हुई है जिसमे सिर्फ एक इंसान ही बेथ सकता है। उन्होंने मीडिया में बताते हुए कहा की हम आशा करते है हमारी गाड़ी मई बैठने वाला इंसान खुद को सुरक्षित महसूस करेगा। 

सड़क पर लंबे ट्रैफिक जाम में फंसने पर ज्यादातर लोगों के मन में ऐसी कार रखने की ख्वाहिश होती है। लेकिन अब लगता है कि ये सपना सच हो गया है। जापानी कंपनी स्काईड्राइव ने एक आदमी पर अपनी “फ्लाइंग कार” का सफलतापूर्वक परीक्षण किया।

कंपनी ने पत्रकारों को इसका एक वीडियो दिखाया, जिसमें प्रोपेलर के साथ एक मोटरसाइकिल जैसा वाहन जमीन से कई फीट (एक या दो मीटर) ऊपर चला गया।मोटरसाइकिल चार मिनट के लिए एक निर्दिष्ट क्षेत्र में हवा में रही।

स्काईड्राइव परियोजना के नेता तोमोहिरो फुकुजावा ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि 2023 तक “उड़ने वाली कार” एक वास्तविक उत्पाद होगी। हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि इसे सुरक्षित बनाना एक बड़ी चुनौती है।

उन्होंने कहा कि वह अभी केवल पांच से 10 मिनट के लिए ही उड़ान भर सकते हैं, लेकिन उनकी उड़ान का समय बढ़ाकर 30 मिनट किया जा सकता है।  ऐसी बहुत से बाटे सामने आ रही है की इसको चीन जैसे देशो में बनाया जा सकता है 

उन्होंने 2012 में एक स्वयंसेवी परियोजना के रूप में स्काईड्राइव परियोजना पर काम करना शुरू किया।  इस परियोजना को जापानी वाहन निर्माता टोयोटा मोटर कॉर्प द्वारा वित्त पोषित किया गया था।  और इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनी पैनासोनिक कॉर्प। 

तीन साल पहले इस कार का एक परीक्षण भी किया गया था, लेकिन यह असफल रहा।  वैसे, भविष्य की उड़ने वाली कार का कॉन्सेप्ट 1962 में बच्चों के कार्टून शो “द जेट्सन” में भी रखा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.