दिन में पति के साथ 7 फेरे लेकर रात में भाई के साथ फरार हुए दुल्हन, परिवार हैरान

जानने के लिए आगे पढ़े…

राजस्थान के भरतपुर जिले के पयाना में दो अविवाहित जोड़े शादी के बाद दहेज की मांग को लेकर लौटे।  इससे वर-वधू के परिवारों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।  बेटियों के पिता पिता के सामने अपने बेटों से मिन्नतें करते रहे। लेकिन वे बिना दहेज लिए दुल्हन लेने को तैयार नहीं हुए।  अंत में दूल्हा बिना दुल्हन के बारात लेकर लौट आया।

भरतपुर जिले के पाना थाना क्षेत्र में एक भयानक मामला सामने आया है।  और यहां और सात फेरे के बाद भी दहेज की मांग पूरी नहीं हुई, दुल्हनों को लेकर वे बारात लेकर लौट आए।

इससे ससुराल में कोहराम मच गया।  इसके बाद मामला नहीं सुलझा तो घायल दुल्हनों के परिजन थाने पहुंचे और वहां दूल्हे के परिजनों के खिलाफ दहेज का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। पुलिस ने बताया कि हादसा पियाना थाना क्षेत्र के सिकंदरा गांव में हुआ। शिवशंकर की बेटियों की शादी सिकंदरा और उनके भाई हरिशंकर से 10 मई को हुई थी।

उनका काफिला गढ़ी बगना थाना क्षेत्र के रामपुरा से आया था।  बारात में शामिल हुए दूल्हे गौरव और पवन और दुल्हन के रिश्तेदारों ने बारात का गर्मजोशी से स्वागत किया।  शादी की सभी रस्में हंसी-मजाक के साथ संपन्न हुईं।  शाम को दोनों बेटियों ने सात फेरे भी लिए।

बिदाई के वक्त दहेज पर जोर देना

नवविवाहितों के पिता ने प्रत्येक नवविवाहिता को एक साइकिल, सोने के गहने, घरेलू सामान और दहेज का फर्नीचर भेंट किया। अगली सुबह, 11 मई, जब बारात को खारिज करने का समय आया तो दूल्हे के माता-पिता जल सिंह और उदी सिंह ने अपने भाइयों और अन्य रिश्तेदारों के साथ दुल्हन के पिता से दहेज के लिए याचिका दायर की।

उन्होंने कहा कि पांच लाख रुपये दहेज के रूप में दिए जाएं। जिसमें दो बाइक और सोने के जेवरात शामिल हैं। दहेज लेने के बाद ही दो दुल्हनें लेती हैं। रिश्तेदार भी चले गए लेकिन वे कुछ नहीं कर सके। इससे दुल्हन के परिजन सहम गए।  उसने दूल्हा-दुल्हन के परिवार को समझाने की काफी कोशिश की लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी।

जब दुल्हन के पिता ने दहेज के अनुरोध को पूरा करने में असमर्थता दिखाई तो दूल्हा और उसके रिश्तेदार दुल्हन को लाए बिना बारात के साथ लौट आए।  अब बयाना थाना पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है।  इस घटना को लेकर शादियों में शामिल हुए परिजन भी काफी इमोशनल हो गए लेकिन वे कुछ नहीं कर पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.