लड़की के घर वालो ने लड़के को किडनैप कर कटा उसका प्राइवेट पार्ट – हालत देख पुलिस हैरान

जानने के लिए आगे पढ़े…

राजधानी दिल्ली में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। इधर, लड़के और लड़की के बीच प्रेम विवाह से नाराज लड़की के रिश्तेदारों ने लड़के का अपहरण कर लिया।  जानकारी के मुताबिक लड़की के परिवार वालों ने लड़के को गंभीर रूप से घायल कर दिया और उसे सागरपुर जिले में छोड़ दिया गया।

पीड़ित परिवार के मुताबिक आरोपी ने लड़के का गुप्तांग काट दिया, जिसके बाद उसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया। दिल्ली पुलिस के मुताबिक उन्हें इस घटना की जानकारी सफदरजंग अस्पताल से मिली। पुलिस के मुताबिक लड़का राजौरी पार्क जिले का रहने वाला है और लड़की सागरपुर जिले की रहने वाली है।

वे दोनों भाग गए

दोनों में प्यार हो गया और घर से भाग गए।  दिल्ली पुलिस के मुताबिक, इनकी शादी दिल्ली के बाहर हुई थी और उसी बुधवार को दिल्ली लौटे थे। लड़के के पड़ोस में लड़की के कुछ रिश्तेदार रहते थे। उसने इस बात की जानकारी लड़की के परिवार को दी, जिसके बाद आरोप लगाया गया कि लड़की के परिवार ने लड़के और लड़की का अपहरण कर लिया और उसे सागरपुर जिले में ले जाकर उसका गुप्तांग काट दिया।

पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप

पीड़ित परिवार का कहना है कि वे दोनों गुरुवार को राजौरी पार्क थाने में मदद मांगने आए थे, लेकिन पुलिस ने उनकी मदद नहीं की। उसके बाद लड़की के परिजनों ने उसे अपार्टमेंट के बाहर अगवा कर लिया और फिर इस हरकत को अंजाम दिया।

हालांकि, दिल्ली पुलिस का कहना है कि उन्हें अभी भी अपहरणकर्ता का पता नहीं चला है।  इस घटना की जानकारी उन्हें अस्पताल से ही मिली थी। पुलिस ने अपहरण व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जयपुर में शादी के बाद दिल्ली लोटे

इसके बाद युवती फरार हो गई और 21 दिसंबर को जयपुर पहुंची।  दोनों की शादी एक मंदिर में हुई थी।  दोनों शादी के बाद 22 दिसंबर को दिल्ली पहुंचे और राजौरी गार्डन इलाके में रहने लगे।  लड़की के परिजन को पता चल गया।  रमन अपनी पत्नी के साथ राजौरी गार्डन थाने गया था।  पुलिस ने दोनों पक्षों को बुलाया, लेकिन युवकों ने टाल दिया।  लेकिन लड़की के रूममेट थाने से कुछ दूरी पर इंतजार कर रहे थे।

सागरपुर बैंक के किनारे फेंक कर फरार हुआ युवक

आरोप है कि वहां से युवक का अपहरण कर मारपीट की, गुप्तांग काटकर सागरपुर बैंक के किनारे फेंक दिया। इसके बाद राहगीरों की मदद से पुलिस को सूचना मिली। उसके बाद युवक को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है।

मामले में अतिरिक्त डीसीपी निदेशक प्रशांत प्रिया गौतम ने कहा कि लड़की के परिजनों को उनके ठिकाने की जानकारी मिली थी।  वे उन्हें जबरदस्ती ले गए, ले गए और युवक को बेरहमी से पीटा। युवकों के लौटने पर प्राथमिकी दर्ज की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.