अगर आपके पास है ये 1 रुपए का नोट तो आप भी बन सकते हैं करोड़पति, जानिए कैसे

जानने के लिए आगे पढ़े…

क्या आपने कभी सोचा है कि एक रुपये का नोट आपको करोड़पति बना सकता है? अगर नहीं सोचा है तो अभी सोचिए, क्योंकि हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं जिसे पढ़कर शायद आपको यकीन न हो, लेकिन इस वक्त देश में यही हो रहा है। हर दिन हमारे सामने कई बिल आते हैं जो हम दुकानदार को देते हैं या बैंक में जमा करते हैं, लेकिन उनमें से कई बहुत दुर्लभ सीरियल नंबर वाले दुर्लभ बिल हैं।

दुनिया भर में ऐसे शौक़ीन भी हैं जो दुर्लभ नोटों को इकट्ठा करना पसंद करते हैं। इस शौक के चलते वे आपके नोट को करोड़ों रुपये में खरीद सकते हैं। इसका एक उदाहरण ई-कॉमर्स साइट ईबे पर देखा जा सकता है, जहां 1 रुपये से लेकर 1000 करोड़ रुपये तक के बैंक नोटों की नीलामी की जाती है।

200,000 रुपए में 1 रुपए का नोट

मोंटेक सिंह अहलूवालिया के हस्ताक्षर वाला एक रुपये का नोट eBay पर 200,000 रुपये में बेचा जा रहा है।

2.5 लाख में 100 रुपये का बिल

ईबे पर, दो नए 100 रुपये के बिल 250,000 रुपये में बिकते हैं क्योंकि उनके सीरियल नंबर के अंत में 786 और छह शून्य (000000) होते हैं।

1 करोड़ में 1000 रुपये का बैंकनोट

इसी तरह 1,000 रुपये भी करीब 1 करोड़ रुपये में बिकते हैं। इस नोट के विक्रेता का दावा है कि उस श्रृंखला के कुछ नोट छपाई के समय स्याही खो चुके हैं और उनके सीरियल नंबर भी दुर्लभ हैं।

नोट की एक अलग श्रेणी है

इनमें से कुछ नोट ऐसे भी हैं जो गलत तरीके से छापे गए हैं या जिनके सीरियल नंबर नहीं हैं और इन नोटों की कीमत भी लाखों में है। यहां विभिन्न प्रकार के नोटों की सूची दी गई है, जिनमें टाइपो, फैंसी नंबर, 786, 500 श्रर और दुर्लभ नोट शामिल हैं।

ज्यादातर टिकटों की नीलामी ईबे पर की जाती है।  इस वजह से जो भी सबसे ज्यादा रुपये की पेशकश करेगा उसे यह नोट मिलेगा। इसके अलावा दिलचस्प बात यह भी है कि कुछ बैंक नोट ऐसे भी हैं जिनमें दो अलग-अलग सीरियल नंबर होते हैं और 5000 से 1000 तक बिकते हैं।

आपको भी मौका मिलता है

अब अगली बार आप किसी भी बिल को दुकानदार को देने या बैंक में जमा करने से पहले ध्यान से देखें, क्योंकि हो सकता है कि वह बिल आपको करोड़पति बना दे।

12 thoughts on “अगर आपके पास है ये 1 रुपए का नोट तो आप भी बन सकते हैं करोड़पति, जानिए कैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published.