बच्चो को मार कर पीता था उनका खून – सचाई जान लोगो ने दी ऐसी भयानक सजा

जानने के लिए आगे पढ़े…

एक सीरियल किलर को लेकर बहुत ही भयानक बात सामने आई है।  यह सुनकर हर कोई हैरान है। दरअसल ये सीरियल किलर बच्चों को अपना शिकार बना रहा था। बच्चों को मारने के बाद इस दानव ने उनका खून पी लिया जिसके लिए स्थानीय लोगों ने उन्हें “नर वैम्पायर” कहा।  एक दिन वह भीड़ के हाथों गिर गया और लोगों ने उसे पीट-पीट कर मार डाला।  इस सीरियल किलर ने माना कि अब तक वह 10 बच्चों की हत्या कर उनका खून पी चुका है।

इस सीरियल किलर का नाम मस्टेन वंजाला है। वह दो दिन पहले हिरासत से फरार हो गई थी जिसके बाद केन्याई पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। लेकिन पुलिस के सामने भीड़ ने उसे ढूंढ लिया और पीट-पीटकर मार डाला। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने पर प्रतिवादी ने स्वीकार किया कि वह बच्चों को नशीला पदार्थ देकर बेहोश कर देता था और फिर उनकी हत्या कर देता था।

रिपोर्ट के मुताबिक ये मामला केन्या के नैरोबी का है। हाल ही में यहां के निवासी मास्टेन वांगला को गिरफ्तार किया गया था। जुलाई में दो बच्चों के लापता होने के बाद इनकी हकीकत सामने आई थी। पुलिस उसे मुकदमे के लिए ला रही थी लेकिन वह उससे पहले ही फरार हो गया।

पुलिस जांच में पता चला कि वंजाला के ज्यादातर निशाने 12-15 आयु वर्ग के बच्चे हैं। जिन्हें वह नशीला पदार्थ देकर बाहर निकाल देता था या कभी-कभी सीधे चाकू से मार देता था। उसके बाद वह कुछ बच्चों का खून पीने को भी राजी हो गया। वह खुद को सॉकर कोच कहने की आड़ में बच्चों को लेता था।

अदालत में पेश होने से पहले भागा

रिपोर्ट के मुताबिक मामला केन्या के नैरोबी का है। हाल ही में यहां के निवासी मास्टेन वांगला को गिरफ्तार किया गया था। जुलाई में दो बेटों को खोने के बाद उसकी सच्चाई सामने आई थी।  पुलिस ने उस पर मुकदमा चलाया लेकिन वह उससे पहले ही फरार हो गया।

पुलिस जांच में पता चला कि वंजाला के ज्यादातर निशाने 12-15 आयु वर्ग के बच्चे हैं।  जो कभी नशीला पदार्थ पिलाकर होश खो बैठते थे या कभी-कभी सीधे चाकू से मार दिए जाते थे।  उसके बाद वह कुछ बच्चों का खून पीने को भी राजी हो गया।  वह खुद को फुटबॉल कोच कहने की आड़ में बच्चों को ले जाता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.