13 साल की लड़की के साथ हुआ भयानक हादसा, सुनकर आपके भी उड़ जाएंगे होश

जानने के लिए आगे पढ़े

25 अप्रैल को दक्षिणी दिल्ली के एक इलाके की 13 वर्षीय बच्ची बाजार गई थी। लड़की कार ले गई। कार को शाहरुख नाम का शख्स चला रहा था। शाहरुख उसे बाजार के बजाय ओखला इलाके में ले गए और उसके दो दोस्तों को भी बुलाया। शाहरुख, आकाश और उनके एक छोटे दोस्त ने लड़की को कोल्ड ड्रिंक पीने के लिए मजबूर किया, जिसमें ड्रग मिला था। इसके बाद सभी प्रतिवा दियों ने सामू हिक रूप से उसके साथ दुष्कर्म किया। गैंग के बाद तीनों लड़के लड़की को टिगरिस इलाके के जेजे कैंप में ले गए. उनके एक अन्य दोस्त सलमान अपने अन्य चार दोस्तों के साथ वहां पहुंचे। 

लड़की के साथ ही ऐसे कांड क्यों होते है ?

आरोपी ने रात में बच्ची के साथ कई बार दुष्कर्म किया। अगले दिन सलमान अपने चार दोस्तों के साथ लड़की को मथुरा ले गए। वहां उसके साथ सामू हिक दुष्कर्म भी किया गया। मथुरा में रहने के एक दिन बाद लड़की को वापस दिल्ली टिग रिस इलाके में ले जाया गया और लड़की के साथ तीन या चार दिनों तक सामू हिक किया गया। 26 अप्रैल को दर्ज हुआ मामला 26 अप्रैल को दिल्ली के टाइ ग्रिस थाने में मामला दर्ज किया गया था आजतक के हिमांशु मिश्रा के मुताबिक पीड़िता के पिता ने कहा कि 24 अप्रैल को काफी देरी के बाद भी अगर उनकी बेटी घर नहीं लौटी तो वह पुलिस के पास जाएगा इसके बाद 26 अप्रैल को प्राथ मिकी दर्ज की गई थी। हिमांशु मिश्रा के मुताबिक 24 से 30 अप्रैल के बीच बच्ची के साथ कई बार सामू हिक दुष्क र्म किया गया

लड़की के साथ हुए हादसे को देख रूह कांप जाती है

प्रति वादी लड़की को नशीला पदार्थ पिलाता था, इसलिए वह हमेशा नशे में रहती थी। पुलिस के अनुसार, 1 मई को टाइ ग्रिस पुलिस मुख्यालय के एक एजेंट को इस बात का अंदाजा था कि इस मामले में एक प्रति वादी इलाके में मौजूद है। पुलिस ने जब उस लड़के को पकड़ा तो पता चला कि वह नाबा लिग है। पूछताछ के दौरान उसने अपराध में शामिल होने की बात कबूल की और अपने दो साथियों मोहित और आकाश को भी बुलाया। इसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। काफी पूछताछ के बाद भी तीनों आरो पियों ने पीड़िता के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। 

लड़की के साथ हुए ऐसे हादसों की रोज अति है खबरे

आपको लड़की कैसे मिली? पुलिस ने पीड़िता की तलाश में कई जगह पोस्टर चस्पा किए थे। जिसकी मदद से इसका पता लगाया जा सका। पुलिस के मुताबिक एक महिला ने 2 मई को दिल्ली के साकेत मेट्रो स्टेशन के जांच अधिकारी को फोन किया था. उन्होंने कहा कि जिस लड़की के पोस्टर लगे थे वह सिर्फ साकेत मेट्रो स्टेशन पर मौजूद है। इसके बाद पुलिस साकेत मेट्रो स्टेशन पहुंची और पीड़िता को ढूंढ निकाला. पुलिस के मुताबिक पीड़िता उस वक्त भी नशे में थी। बाद में उन्हें मेडिकल जांच के लिए एम्स ले जाया गया। जांच में की पुष्टि हुई। 

लड़की के साथ हुई दरिं दगी का भयानक सच

इसके बाद पुलिस ने पो क्सो कानून और आई पीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया। नाबा लिग पीड़िता के परिजनों ने बताया कि उनकी बेटी 24 अप्रैल से लापता थी इस संबंध में टिग रिस पुलिस मुख्यालय में शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस पर आरोप है कि उसने उन्हें बताना जारी रखा कि अभी नाबा लिग का फोन बज रहा है। इसे ऑन करते ही हम इसकी लोके शन का पता लगा लेंगे। तभी लड़की मिल जाएगी। लड़की के पिता ने बताया कि उसकी बेटी को कोसी और तिगरी से कई दिनों तक हाथ पैर बांध कर रखा गया था. लेकिन पुलिस ने उसकी तलाशी में कोई सक्रि यता नहीं दिखाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *