37 साल बाद धरती पर उतरा जहाज – लोगो की हालत देख आप दंग रह जाएंगे

जानने के लिए आगे पढ़े…

वैसे तो दुनिया में रहस्यमयी खबरों की कमी नहीं है। पूरी दुनिया रहस्यों से भरी पड़ी है। हालाँकि कुछ रहस्य ऐसे हैं जिन्हें समझना असंभव लगता है। आज हम आपको एक ऐसी ही शानदार कहानी बताने जा रहे हैं।  आपको जानकर हैरानी होगी। आज हम जिस रहस्य से पर्दा उठाने जा रहे हैं वह उड़ान के लापता होने से जुड़ा है।

उड़ान संख्या 513 सैंटियागो एयरलाइंस का यात्री विमान था। सैंटियागो एयरलाइंस के विमान ने 1954 में पश्चिम जर्मनी के आकिन हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी। लेकिन किसी को नहीं पता था कि इतिहास रच देगा।

आपने सही सुना 92 यात्रियों वाला यह विमान 04 सितंबर, 1954 को लापता हो गया था। उड़ान  संख्या 513 को टेकऑफ़ के 18 घंटे बाद ब्राजील के पोर्टो एलेग्रे हवाई अड्डे पर उतरना था। लेकिन लैंड नहीं हुआ। उड़ान भरते ही विमान आसमान में गायब हो गया।  हवाई यातायात नियंत्रकों की लाख कोशिशों के बावजूद विमान से संपर्क नहीं हो सका और एयरलाइंस को विमान नहीं मिला।

तब तक 92 यात्रियों को लेकर विमान के लापता होने की खबर दुनिया भर में फैल गई थी। जिससे कोहराम मच गया था। दुनिया की कई बड़ी ख़ुफ़िया एजेंसियां ​​विमान की खोज में लगी हुई थीं। लेकिन विमान नहीं मिला। लोगों ने अनुमान लगाया कि विमान आसमान में दुर्घटनाग्रस्त हो गया होगा या अटलांटिक महासागर में उतरा होगा।

जिससे सभी 92 यात्रियों की मौत हो गई।  लेकिन विमान का मलबा कहीं नहीं मिला। विमान को खोजने के लिए सर्च टीमों ने दिन-रात काम किया।  लेकिन उसका कोई अता-पता नहीं चला। कहा जाता है कि अटलांटिक महासागर के ऊपर उड़ान भरते समय विमान का संपर्क टूट गया था।

कहा जाता है कि धरती पर कभी भी चमत्कार हो सकते हैं

विमान के लापता होने के कुछ साल बाद घटना के 37 साल बाद एक चमत्कार हुआ। यह देख एयरपोर्ट अधिकारी हैरान रह गए। अधिकारियों ने वॉयस रेडियो पर संदेश भेजकर जल्दी से रनवे को साफ करवाया। जहां विमान को उतरना था। इसके बाद विमान सुरक्षित रनवे पर उतर गया।

जब अधिकारियों ने विमान को देखा तो उस पर सैंटियागो एयरलाइंस का नाम और नंबर था। प्लेन बहुत पुराना और ऐसा लग रहा था जैसे यह किसी दूसरी दुनिया से आया हो। यह देख एयरपोर्ट के अधिकारी हैरान रह गए। बाद में बातचीत में पायलट ने कहा कि खराब मौसम के कारण विमान भटक गया था।

लैंडिंग के कुछ ही देर बाद उड़ान भरने से पहले विमान फिर से आसमान में गायब हो गया। उसके बाद विमान नहीं मिला। लापता विमान को खोजने के लिए अभी भी कई प्रयास जारी हैं। हम आपको सूचित करना चाहेंगे कि इस विमान को पहली बार 1989 में वर्ल्ड टैब्लॉयड मैगजीन द्वारा प्रकाशित किया गया था। कारण जो भी हो यह घटना आज भी कई लोगों के लिए एक रहस्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.