बड़ी खबर: एक लड़की ने फांसी लगाकर दी जान – पुलिस ने परिवार को लाश देने से किया इंकार

जानने के लिए आगे पढ़े…

कॉलेज की एक छात्रा एक छोटी सी बात को लेकर अपने परिवार से इतनी नाराज है कि उसने खुदकुशी कर ली छात्र ने सुसाइड नोट में शव परिवार को नहीं सौंपने की बात भी लिखी है

मामला किशनगढ़पास के अलवर शहर का है कस्बे के बिजली केंद्र के पास किराए के मकान में रहने वाली छात्रा ने सुसाइड नोट लिखकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली जानकारी के अनुसार छात्र “चेता” कृषि स्नातक में प्रथम वर्ष का छात्र था उसे इस विषय में कोई दिलचस्पी नहीं थी, लेकिन उसने अपने परिवार के सदस्यों के दबाव में इस विषय की स्वीकृति को स्वीकार कर लिया इस वजह से तिष्टा कई दिनों से उदास थी। आज मौका देखकर उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली

तिष्टा की सहेली और रूममेट श्वेता ने तिष्टा को बताया कि वह फैशन डिजाइन का कोर्स करना चाहती है, जिसे उसके परिवार के सदस्यों ने उसे खेती के रूप में स्वीकार करने की अनुमति दी थी। इससे नाखुश उसने फांसी लगा ली। उन्होंने सुसाइड नोट में शव परिजनों को नहीं देने की बात भी कही

एसएचओ ने चांद सिंह को बताया कि तिश्तल कूटा का रहने वाला है और यहां खेती-बाड़ी कर रहा था। वह अलोर में किराए के मकान में रहता था। आत्महत्या के बाद और जगह का मुआयना करने के बाद शव को मुर्दाघर में रख दिया गया

यह है घटना

थट्टीपुर थाना क्षेत्र स्थित मेयर बाजार निवासी राखी की बेटी (24) जगन्नाथ सिंह पीएससी की तैयारी कर रही थी। वह इंदौर के भंवरकुआं थाना क्षेत्र के प्रोफेसर कॉलोनी के गर्ल्स हॉस्टल में रह रही थी। शनिवार की शाम छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई

पुलिस ने मौके से शव को सर्विलांस पर लेकर मामला दर्ज किया ह छात्र ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें रियाल्टार राजेश यादव, जिसे हर्ष के नाम से जाना जाता है, और उनके सहयोगी मनमोहन शर्मा को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है

सुसाइड नोट में लिखा था

सुसाइड नोट में लिखा है कि धाविका राजेश यादव को लेकर पूरा परिवार चिंतित है। मैंने दो साल पहले एचडीएफसी से बैंक लोन लेने के नाम पर अपनी मां से दस्तावेज लिए थे। दलाल मनमोहन शर्मा और बैंक मैनेजर आरएस चौहान को भेंट की उन्होंने कहा कि ऋण स्वीकृत किया जाएगा।हम चेक बैंक कहते हैं।

घरेलू रिकॉर्ड बनाया। इसके बाद कर्ज नहीं हुआ तो मां के नाम पैसे निकाल लिए गए। हम एफआईआर फाइल भी उपलब्ध कराते हैं। हालांकि पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया, लेकिन उन्होंने मामले में एफआर लगा दी छात्रा ने मांग की कि उसे और उसके परिवार को प्रताड़ित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए

Leave a Reply

Your email address will not be published.