एक अजीब गांव, जहां बड़े होते ही लड़किया बन जाती है लड़के, वजह जान रह जायेंगे दंग

जानने के लिए आगे पढ़े…

डोमिनिकन गणराज्य के देश में ला सेलिनास नाम का एक कस्बा है।  यहां लड़कियों का लिंग एक निश्चित उम्र के बाद बदल जाता है।  इसके बाद यहां की लड़कियां लड़के बन जाती हैं।

ज्यादातर लड़कों और लड़कियों के लिए यौवन एक अजीब और कठिन समय होता है।  इस समय, आवाज भारी होने लगती है, मिजाज बदलने लगता है और बाल उन जगहों पर दिखाई देने लगते हैं जहां पहले नहीं थे। 

लेकिन अगर हम आपसे कहें कि दुनिया के नक्शे पर एक ऐसा कस्बा (ला सेलिनास गांव) है, जहां एक निश्चित उम्र से ही लड़कियां लड़के बन जाती हैं, तो आप हैरान रह जाएंगे।

क्या हुआ, आप हैरान नहीं हैं?  लेकिन ये बिल्कुल सच है।  डोमिनिकन गणराज्य में ला सेलिनास गांव नामक एक शहर है।  यहां की लड़कियां एक निश्चित उम्र के बाद अपना जेंडर बदल लेती हैं।  इसके बाद यहां की लड़कियां लड़के बन जाती हैं।

  इसी वजह से यहां के लोग इस शहर को शापित शहर मानते हैं।  यहां तक​​ वैज्ञानिक भी अभी तक इस रहस्य को उजागर नहीं कर पाए हैं।

12 साल की उम्र में लड़का बनना

ला सेलिनास में कई लड़कियां 12 साल की उम्र में लड़के बनना शुरू कर देती हैं।  गांव की लड़कियों के लड़कों में बदल जाने के कारण यहां के लोग आज भी काफी परेशान हैं

इसी वजह से कई गांव वालो का कहना था कि यहां किसी अदृश्य शक्ति की छाया है।  इसके अलावा कुछ वृद्ध लोग शहर को शापित मानते हैं।  इन बच्चों को “ग्वेवेडोसेस” कहा जाता है।

जब गांव में किसी के घर लड़की का जन्म होता है तो उस परिवार में मातम छा जाता है।  क्योंकि उन्हें डर है कि उनकी बेटी बड़ी होकर लड़का बन जाएगी।  इस बीमारी के कारण गांव में लड़कियों की संख्या काफी कम हो रही है।  इस रहस्यमयी बीमारी की वजह से पड़ोसी शहरों के निवासी इस शहर को निहारते हैं।

यह रोग वंशानुगत होता है।

इस तटीय शहर की आबादी करीब 6 हजार है।  अपने विलक्षण आश्चर्य के कारण यह शहर आज भी दुनिया भर के शोधकर्ताओं के लिए जांच का विषय बना हुआ है।  वहीं, डॉक्टरों का कहना है कि यह बीमारी एक “जेनेटिक डिसऑर्डर” है।  स्थानीय भाषा में इस रोग से ग्रसित बच्चों को “स्यूडोपोड्स” कहा जाता है। 

इस बीमारी से पीड़ित सभी लड़कियां वयस्क होने के बाद पुरुषों की तरह अंगों का निर्माण करने लगती हैं।  उसकी आवाज भारी होने लगती है और शरीर में वो बदलाव दिखने लगते हैं, धीरे-धीरे वह लड़की के लड़के में बदल जाता है। 

90 गांवों का एक लड़का इस रहस्यमयी बीमारी से लड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.