खुद का शरीर नोचने पर मजबूर हो जाती है ये महिला, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

जानने के लिए आगे पढ़े…

दुनिया में एक से बढ़कर एक व्यक्ति ऐसे हैं जो ऐसी बीमारियों से ग्रसित हैं कि उनके बारे में सोचना भी मुश्किल है। 35 साल की लॉरेन मैककिनी ऐसी ही अजीब बीमारी से पीड़ित हैं।  इस बीमारी ने उसे खुदकुशी करने के लिए मजबूर कर दिया और उसने अपने नाखूनों से अपनी त्वचा को फाड़ना जारी रखा (एक महिला अपनी त्वचा को उठा रही थी)।

अमेरिका के शिकागो में रहने वाली लॉरेन मैककिनी को समझ नहीं आ रहा था कि उनके शरीर पर चोट क्यों लगी है। बचपन से ही यह उनकी आदत थी और बड़े होने पर ही उन्हें अपनी बीमारी का पता चला। यह एक प्रकार का जुनूनी-बाध्यकारी विकार है, यानी जुनूनी-बाध्यकारी विकार, जिससे उसे बहुत दर्द हुआ।

लॉरेन को एक जुनूनी-बाध्यकारी विकार है जिसे डर्मेटोसिस कहा जाता है। यह मन की वह अवस्था है, जिसमें व्यक्ति मरोड़ता है, काटता है और कभी-कभी अपनी ही त्वचा को चबाना शुरू कर देता है। रिपोर्ट के मुताबिक, इन लोगों के शरीर पर अक्सर घाव के निशान होते हैं।

एक बार लॉरेन की बीमारी के कारण उनका घाव संक्रमित हो गया और उनकी जांघ पर MRSA नामक कीट ने हमला कर दिया। स्थिति पैर काटने तक पहुंच गई।  इस दौरान उन्हें अपनी बीमारी के बारे में भी पता चला।  तब उसे एहसास हुआ कि वह 5 साल की उम्र से ऐसा क्यों कर रहा था।

इस संयोजन के लिए कोई दवा नहीं है

लॉरेन का कहना है कि उन्होंने बचपन से ही इस बीमारी से काफी कुछ खोया है। लोगों ने उनका खूब मजाक उड़ाया क्योंकि उनके शरीर पर धब्बे थे। जब उन्होंने अंततः बीमारी को पहचान लिया, तो उन्होंने अपनी उंगलियों को विभिन्न चीजों में तब तक व्यस्त रखा जब तक कि उन्होंने अपनी त्वचा को खरोंचना बंद नहीं कर दिया।

उन्हें अक्सर इसका एहसास तब तक नहीं होता जब तक कि उनकी उंगलियां फिर से त्वचा को रगड़ना शुरू नहीं कर देतीं और यही इस बीमारी की सबसे बड़ी समस्या है। आज वो न सिर्फ खुद पर कंट्रोल करना सीख रही हैं, बल्कि खुद की तरह स्किन डिसॉर्डर वालों को भी शिक्षित कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.