पड़ोसन को डायन बताकर मारी गोली- फिर जो किया देख आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे

जानने के लिए आगे पढ़े…

दुनिया आज मंगल ग्रह पर आ गई है, लेकिन लोग अभी भी अंधविश्वास में फंसे हुए हैं। आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में डायन के नाम पर महिलाओं का शोषण और हत्या की जाती है।  ताजा मामला बिहार राज्य के गोपालगंज में सामने आया है।  यहां पड़ोसी ने जादू टोना और काला जादू करने का आरोप लगाते हुए एक महिला को गोली मार दी।

गोली लगने के बाद घायल महिला को सदर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसकी हालत नाजुक बताते हुए गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। यह घटना जिले के मंगेगढ़ थाना क्षेत्र के चितवनी गांव की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी है।

घटना के बारे में बताया गया कि गांव चितवनी में संजय साह का बेटा दो साल पहले घर से गायब हो गया था, जिसके बाद पड़ोसियों ने 35 वर्षीय राजू साह की पत्नी सीमा देवी को डायन का पीछा करने का आरोप लगाकर पीटा। पुलिस मारपीट के इस मामले की जांच कर रही थी।  इसी बीच आज होली खेलने के बाद पड़ोसी ने महिला के घर आकर गोली मार दी। घटना के बाद आरोपित घर छोड़कर फरार हो गया। आसपास के लोगों की मदद से घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

महिला का दावा है कि जादू टोना के लिए उस पर कई बार हमला किया गया। इस बार महिला केजे संजय साह पर गोली चलाने का आरोप है।  महिला का बयान लेने के लिए मन्हागढ़ पुलिस की एक टीम गोरखपुर के लिए रवाना हो गई। इस मामले में एसडीपीओ सदर संजीव कुमार ने कहा कि पुलिस जांच के बाद आरोपी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है और जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डायन-बिसाही (अंधविश्वास) ग्रामीण भारत में एक बड़ी समस्या है। डायन बताए जा रहे महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मामले मुख्य रूप से बिहार से सटे झारखंड राज्य में देखने को मिले। आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) के आंकड़ों के मुताबिक, 2015 में चुड़ैलों के वेश में 46 महिलाओं की हत्या कर दी गई थी। 

2016 में 39 हत्याएं, 2017 में 42, 2018 में 25, 2019 में 27 और 2020 में 28 हत्याएं हुईं। जादू टोना उत्पीड़न के मामलों की बात करें तो 2015 से 2020 तक पुलिस में कुल 4,556 मामले दर्ज किए गए। यानी हर दिन दो-तीन मामले पुलिस के पास आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.