इस बुजुर्ग महिला ने अपनी करोड़ो की जमीन की राहुल गन्दी के नाम – वजह जान लोग हुए हैरान

जानने के लिए आगे पढ़े…

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के डालनवाला नेहरू रोड पर रहने वाली एक बुजुर्ग महिला की संपत्ति कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के नाम है। इस संबंध में महिला ने कोर्ट में वसीयत की थी।

दस्तावेज प्रीतम सिंह को सौंप दिए गए हैं।

मेट्रोपॉलिटन चीफ लालचंद शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी के नाम पर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम सिंह को यमुना कॉलोनी स्थित उनके आवास पर अपनी जायदाद देते हुए पुष्पा मोंग्याल ने कहा कि वह राहुल गांधी के विचारों से काफी प्रभावित हैं।

बुढ़िया ने कहा कि देश की आजादी से लेकर आज तक आगे बढ़ते हुए मातृभूमि की भलाई के लिए उनके परिवार ने हमेशा सर्वोच्च बलिदान दिया है। श्रीमती इंदिरा गांधी हों या राजीव गांधी। इन दोनों ने इस देश की एकता और सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी।  ऐसे में राहुल गांधी अपने भाग्य के लिए सबसे उपयुक्त हैं।

गांधी परिवार से जुड़ें

उत्तराखंड कांग्रेस के पूर्व राज्य प्रमुख और विपक्ष के नेता प्रीतम सिंह ने पुष्पा मोंग्याल के इस कदम का स्वागत किया।  प्रीतम सिंह ने कहा कि महिला का कांग्रेस और गांधी के परिवार से गहरा नाता है और नतीजतन उसने अपनी संपत्ति राहुल गांधी को हस्तांतरित करने का फैसला किया।

आज के दौर में जहां लोग संपत्ति के विवादों में फंस जाते हैं। पुष्पा मोंग्याल का यह कदम काफी चौंकाने वाला है।  आपको बता दें कि उक्त संपत्ति राजधानी के एक बेहद आलीशान इलाके में स्थित है और इसकी कीमत भी काफी ज्यादा है।

बुढ़िया के पास एफडी और 50 लाख से अधिक के गहने हैं। जो अब राहुल गांधी के पास होंगे।  खास बात यह है कि यही महिला एक नर्सिंग होम में रहती है। पुष्पा का कहना है कि पिछले नौ सालों में जिस भी बैंक ने फंडिंग के लिए आवेदन किया है। उसमें राहुल गांधी का नाम पहले ही FD नॉमिनेशन में डाला जा चुका है।

पुष्पा चाहती थीं कि राहुल गांधी से शादी करने पर ये गहने राहुल गांधी की पत्नी को भेंट किए जाएं।  पुष्पा मंगल का कहना है कि राहुल गांधी बहुत सरल और सीधे हैं। लोग उन्हें बेवजह नाराज करते हैं। राहुल गांधी बहुत भोले हैं और उनसे प्रभावित हैं।  प्रहुल गांधी ने उन्हें छुआ और उन्हें अपने बेटे की तरह माना।

पुष्पा बताती हैं कि उनके परिवार में उनके माता-पिता का देहांत काफी समय पहले हो गया था।  उनके एक भाई की भी कैंसर से मृत्यु हो गई और अब उनकी एक लंबी विवाहित बहन है।  हालांकि राहुल गांधी को अपनी अचल संपत्ति और निजी संपत्ति सौंपते हुए। उनका कहना है कि उनकी बहन को कोई आपत्ति नहीं है।

पुष्पा ने देहरादून कोर्ट में अपनी संपत्ति राहुल गांधी के नाम करने की वसीयत भी बनाई थी।  कांग्रेस नेता के नाम अपनी संपत्ति दान करने वाली वृद्धा ने कहा कि वह राहुल गांधी के विचारों से काफी प्रभावित थीं। इसलिए उसने अपनी संपत्ति उसके नाम कर दी।

देहरादून के कांग्रेस अध्यक्ष ने चांद शर्मा को बताया कि महिला ने अपनी संपत्ति राहुल गांधी के नाम पूर्व प्रदेशाध्यक्ष प्रीतम सिंह को उनके आवास पर दी थी। शर्मा ने कहा कि राहुल गांधी के परिवार ने हमेशा देश के लिए सबसे बड़ा बलिदान दिया है क्योंकि यह देश की आजादी से आज तक का संक्रमण है। इंदिरा गांधी हों या राजीव गांधी। उन्होंने इस देश की एकता और सुरक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी।

हमने आपको बताया कि पिछले 5 राज्यों के कॉकस में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है।  इस चुनाव में पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था। पंजाब उन राज्यों में से एक था। जहां चुनाव से पहले कांग्रेस सत्ता में थी।  इधर एक शून्यवादी सार्वजनिक पार्टी 92 सीटें हासिल करके अपनी सरकार बनाने में सफल रही। आप की ओर से भगवंत मान मुख्यमंत्री बने। वहीं कांग्रेस 18 सीटों पर सिमट गई।

यूपी की बात करें तो बीजेपी यहां 273 सीटें जीतकर वापसी कर रही है।कांग्रेस एक राज्य में केवल दो सीटें जीत सकती है। उत्तराखंड में 47 सीटें जीतने के बाद बीजेपी ने फिर से सरकार बनाई तो कांग्रेस 19 सीटों पर सिमट गई। गोवा में बीजेपी को 20 और कांग्रेस ने 12 सीटों पर जीत हासिल की थी। मणिपुर में बीजेपी ने 32 सीटें जीतकर सरकार बनाई।  यहां कांग्रेस को 5 सीटें मिली थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.